ओशिनियाफ़ीचरसाझेदारी

सफलता की रूपरेखा

सहयोगियों, साझेदारों द्वारा प्रतिरोधक्षम पैसिफ़िक के लिए संसाधनों, समर्थन की प्रतिज्ञा

फ़ोरम स्टाफ़

 ब मार्च 2023 की शुरुआत में वानुअतु में 230 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से घरों को उखाड़ते और बिजली की लाइनों को गिराते हुए एक के बाद एक चक्रवात आए, तो पैसिफ़िक परिवार ने तेज़ी से प्रतिक्रिया की। 319,000 लोगों के प्रशांत द्वीपीय देश (PIC) ने जब अभूतपूर्व प्राकृतिक आपदा के मलबे से पुनर्संयोजन के विशाल कार्य का सर्वेक्षण करना शुरू किया — दो भयानक तूफ़ानों के फ़ौरन बाद दो भूकंपों की गड़गड़ाहट हुई — तब सहायता रास्ते में थी।

रॉयल ऑस्ट्रेलियन एयर फ़ोर्स (RAAF) C-17A ग्लोबमास्टर ने तेज़ी से मूल्यांकन टीम, आश्रयों और जल शोधन आपूर्ति के लिए वानुअतु तक लगभग 2,000 किलोमीटर की उड़ान भरी, जबकि नागरिक आपातकालीन प्रतिक्रिया कर्मियों के साथ फ़िजी गणराज्य सैन्य बल (RFMF) के दर्जनों इंजीनियर, चिकित्सा विशेषज्ञ और अन्य सेवा सदस्य तैनात थे। फ़्रांसीसी सशस्त्र बलों ने जल भंडारण टैंक और संयुक्त राष्ट्र राहत आपूर्ति पहुँचाने के लिए वायु और समुद्री परिसंपत्तियाँ जुटाईं, और फ़्रांसीसी सैनिकों ने उखड़े हुए पेड़ों से पटी सड़कों को साफ़ किया और चिकित्सा निकासी का संचालन किया। दक्षिण कोरिया ने मानवीय सहायता के लिए 2 लाख ($200,000) अमेरिकी डॉलर स्वीकृत किए। सियोल के विदेश मंत्रालय ने कहा, “सरकार को उम्मीद है कि इस सहायता से चक्रवात प्रभावित वानुअतुवासियों को तेज़ी से अपने दैनिक जीवन में लौटने और नुक़सान से उबरने में मदद मिलेगी।”

वानुअतु को जीवनरक्षक समर्थन की लहर उस नए जोश को दर्शाती है जिसके साथ समान विचारधारा वाले देश समुद्र के बढ़ते स्तर, सार्वजनिक स्वास्थ्य ख़तरों, आर्थिक झटके और संसाधन शोषण जैसी चुनौतियों के खिलाफ़ संघर्षशीलता के निर्माण के लिए प्रशांत द्वीप समूह के साथ जुड़ रहे हैं। यह अत्यधिक परिणाम वाला बहुपक्षीय उपक्रम है, क्योंकि यह विशाल क्षेत्र प्रभाव जमाने के भू-राजनीतिक संघर्ष और पीपल्स रिपब्लिक ऑफ़ चाइना (PRC) के इरादों पर बढ़ती चिंताओं के बीच जलवायु परिवर्तन से अस्तित्व संबंधी ख़तरे का सामना कर रहा है। प्रशांत क्षेत्र के एक नेता ने बीजिंग पर रिश्वतखोरी, जासूसी और अन्य राजनीतिक युद्ध का भी आरोप लगाया है।

चक्रवातों के आने के एक सप्ताह के भीतर, रॉयल ऑस्ट्रेलियाई नौसेना की HMAS कैनबरा और उसके 600 सैनिकों की टुकड़ी, लैंडिंग क्राफ़्ट, हेलीकॉप्टर, चिकित्सा सुविधाएँ और सहायक सामग्री वानुअतु की राजधानी पोर्ट विला पहुँच गई थी, जिसमें मूल्यांकन और निगरानी करने वाले दो RAAF विमान भी शामिल थे। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने अतिरिक्त 30 लाख ($3 मिलियन) अमेरिकी डॉलर की सहायता के साथ-साथ लॉजिस्टिक विशेषज्ञता को भी मंजूरी दी। “यह घोषणा और तैनाती वानुअतु और पूरे क्षेत्र में ऑस्ट्रेलिया की लंबे समय से चली आ रही आपदा तैयारियों और मानवीय सहायता गतिविधियों पर आधारित है,” ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री पेनी वोंग (Penny Wong) ने कहा। “संकट के समय में, प्रशांत परिवार उनके साथ काम करने के लिए ऑस्ट्रेलिया पर भरोसा कर सकता है।”

राजधानी पोर्ट विला में सफ़ाई का समन्वय कर रहे ऑस्ट्रेलियाई सेना के सैनिक और वानुअतु मोबाइल फ़ोर्स के जवान। ऑस्ट्रेलियाई रक्षा विभाग

उन्नत प्रतिरोधक्षमता

दो सप्ताह पहले और पोर्ट विला से 1,000 किलोमीटर पूर्व में, कैनबरा ने इस क्षेत्र के प्रति अपनी प्रतिबद्धता प्रदर्शित की थी क्योंकि वोंग ने 2020 और 2021 में चक्रवातों से क्षतिग्रस्त हुए नौ स्कूलों के पुनर्निर्माण के लिए फ़िजी को 45 लाख ($4.5 मिलियन) अमेरिकी डॉलर की फ़ंडिंग की घोषणा की थी। फ़िजी टाइम्स अख़बार के अनुसार वोंग ने कहा, “सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि न केवल उनका पुनर्निर्माण करना है बल्कि उन्हें उच्च मानकों पर पुनर्निर्माण करना है ताकि वे श्रेणी 5 चक्रवात-रोधी हों, और हम नवीकरणीय ऊर्जा और स्थानीय संसाधनों का उपयोग करके यह सुनिश्चित करने के लिए भी काम करेंगे कि वे संवहनीय हैं।”

ऑस्ट्रेलियाई उच्चायोग के अनुसार, फ़िजी के सबसे बड़े द्विपक्षीय विकास सहायता भागीदार के रूप में ऑस्ट्रेलिया ने 2020 से 950,000 लोगों के द्वीपीय राष्ट्र को प्रत्यक्ष बजट सहायता में 16 करोड़ ($160 मिलियन) अमेरिकी डॉलर से अधिक प्रदान किया है, जिसमें “उन्नत जलवायु और सामाजिक प्रतिरोधक्षमता” भी शामिल है।

इस तरह की सहयोगी परियोजनाएँ 30,000 प्रवाल-द्वीपों और द्वीप-समूह वाले इस क्षेत्र में गति पकड़ रही हैं, जो पृथ्वी की सतह के 15% हिस्से का प्रतिनिधित्व करने वाले समुद्र के विस्तार और रिंग ऑफ़ फ़ायर को शामिल करता है, जहाँ टेक्टोनिक प्लेटों के खिसकने से 120 लाख (12 मिलियन) की आबादी को बार-बार भूकंप और ज्वालामुखी विस्फोट का सामना करना पड़ता है। इस बीच, जलवायु परिवर्तन, चक्रवातों और बाढ़ की गंभीरता व नियमितता को बढ़ा रहा है, जिससे दक्षिण प्रशांत क्षेत्र को प्रति वर्ष अनुमानित रूप से 50 करोड़ ($500 मिलियन) अमेरिकी डॉलर का नुक़सान होता है। 2023 की शुरुआत में घोषित कई पहलों में ये शामिल हैं:

द फ़िजी टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, न्यूज़ीलैंड जलवायु पहल के लिए अपनी पिछली 90 लाख ($9 मिलियन) अमेरिकी डॉलर के वादे के अलावा, फ़िजी के लिए 45 लाख ($4.5 मिलियन) अमेरिकी डॉलर की फ़ंडिंग प्रदान कर रहा है। “मैं स्वीकार करना चाहता हूँ कि हमारे समुदायों पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव के संबंध में हमारी अधिकांश बातचीत एक ऐसा विषय है जिसमें हम यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि भागीदार फ़िजी के साथ काम करें, न्यूज़ीलैंड के साथ काम करें, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि हम अपने समक्ष मौजूद उस महत्वपूर्ण चुनौती का सामना कर सकें।” न्यूज़ीलैंड के विदेश मामलों के मंत्री नानइया महुता (Nanaia Mahuta) ने फ़िजी के प्रधान मंत्री सितिवनी राबुका के साथ एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा।

सियोल द्वारा वित्त पोषित कोरिया इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी (KOICA) फ़िजी की राजधानी सुवा के उत्तर में स्थित तमावुआ में एक नए चिकित्सा केंद्र के लिए 1 करोड़ ($10 मिलियन) अमेरिकी डॉलर तक प्रदान करेगी। द फ़िजी टाइम्स के अनुसार, राबुका ने कहा, “हम इस समयबद्ध परियोजना के लिए KOICA के माध्यम से कोरिया की सरकार और लोगों के प्रति अपना आभार व्यक्त करना चाहते हैं।”

द समोआ ऑब्ज़र्वर अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार, समोआ में, यूनाइटेड स्टेट्स एजेंसी फ़ॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (USAID) ने जलवायु परिवर्तन अनुकूलन, आपदा जोखिम तैयारी और प्रतिक्रिया, तथा सफ़ाई व्यवस्था और स्वच्छता पर समुदाय के नेतृत्व वाली पहल के लिए 15 लाख ($1.5 मिलियन) अमेरिकी डॉलर दिए। “अमेरिकी सरकार प्रशांत द्वीपीय क्षेत्र के बेहद कमज़ोर समुदायों की आपदा-संबंधी व्यवधानों से मुक्त स्वस्थ और सुरक्षित जीवन जीने की क्षमता को मज़बूत करने के लिए प्रतिबद्ध है,” USAID के उप विकास सलाहकार पैट्रिक बोवर्स (Patrick Bowers) ने कहा।

द समोआ ऑब्ज़र्वर की रिपोर्ट के अनुसार, जापान ने समोआ को 14 नए पुलिस वाहनों के लिए अनुदान प्रदान किया, जबकि स्थानीय अधिकारियों ने आंशिक रूप से जर्मनी द्वारा वित्त पोषित दो उन्नत स्कूलों का अनावरण किया। क्षेत्र के लिए जर्मनी के विशेष दूत बीट ग्रेज़स्की (Beate Grzeski) ने कहा, “शिक्षा युवा पीढ़ी को हमारे सामने आने वाली वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए आवश्यक ज्ञान से लैस करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।” 

ताइवान ने पूर्वोत्तर फ़िजी के लाबासा में रक्त डायलिसिस केंद्र स्थापित करने के लिए डायलिसिस मशीनें, जल निस्पंदन इकाइयाँ और अन्य सहायक सामग्री दान कीं। फ़िजी को ताइपे के दो दशकों के समर्थन में 8,000 से अधिक बाह्य रोगी सेवाओं और सर्जरी करने के लिए टीमों को तैनात करना शामिल है। “ताइवान हमारी दोस्ती और साझेदारी को आगे बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य-चर्या के क्षेत्र के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों में फ़िजी को सहायता प्रदान करना जारी रखेगा,” फ़िजी में स्व-शासित द्वीप के प्रतिनिधि जोसेफ़ चाउ (Joseph Chow) ने एक बयान में कहा।

फरवरी 2023 में ऑपरेशन रेमाटाउ के हिस्से के रूप में माइक्रोनेशिया के वोलेई प्रवाल द्वीप में आपूर्ति पहुँचाते अमेरिकी तटरक्षक कटर ऑलिवर हेनरी के चालक-दल के सदस्य।
पेटी ऑफ़िसर सेकंड क्लास ब्रैंडन मुलडाउनी (Brandon Muldowney)/अमेरिकी तटरक्षक

वापस पटरी पर

प्राकृतिक या मानव निर्मित आघातों के खिलाफ़ क्षेत्र को मज़बूत करने पर पैनी नज़र आंशिक रूप से चीन और सोलोमन द्वीप के बीच 2022 सुरक्षा समझौते से उत्पन्न होने वाली थरथराहट में निहित है। हालाँकि विवरण गुप्त हैं, ऐसा माना जाता है कि यह सौदा चीनी युद्धपोतों को सोलोमन द्वीप में पुनःपूर्ति की अनुमति देता है और चीनी सुरक्षा बलों को उस द्वीप राष्ट्र में क़ानून प्रवर्तन सहायता प्रदान करने देता है, जिसके पास कोई सेना नहीं है। विश्लेषकों का तर्क है कि यह स्थायी चीनी सैन्य उपस्थिति का अग्रदूत हो सकता है, जिसे दोनों देशों ने अस्वीकार किया है। “हमने हाल ही में सोलोमन द्वीप के बहाने PRC द्वारा संभावित रूप से पैर जमाने के लिए कुछ कार्रवाइयाँ देखी हैं।” सिंगापुर में द इंटरनेशनल इन्स्टीट्यूट फ़ॉर स्ट्रैटजिक स्टडीज़ में यू.एस. इंडो-पैसिफ़िक कमांड के कमांडर एडम जॉन एक्विलिनो ने मार्च 2023 के भाषण में कहा। “मुझे लगता है कि उसने हममें से कई लोगों को यह सुनिश्चित करने के लिए जागृत किया है कि हम प्रशांत द्वीपों में अधिक समय व्यतीत करें, उनसे जुड़ें, [और] सहायता व समर्थन प्रदान करें। … मैं कहूँगा कि हम वापस पटरी पर आ गए हैं और हम उन तरीक़ों से जुड़ना जारी रखेंगे जो उन देशों के लिए सार्थक और मददगार हों।”

इसमें प्रशांत द्वीप समूह के लिए USAID का 2022-27 रणनीतिक ढाँचा शामिल है। अरबों डॉलर की सार्वजनिक-निजी पहल का उद्देश्य 12 PICs में सामुदायिक प्रतिरोधक्षमता, लोकतांत्रिक शासन और आर्थिक विकास को मज़बूत करना है, ताकि “लोकतांत्रिक मूल्यों की हिमायत करने वाली सुशासन, मानवाधिकार का समर्थन करने वाली, और सभी प्रशांत द्वीपवासियों के लिए समानता व समावेशन को बढ़ावा देने वाली मज़बूत राजनीतिक प्रणालियों के साथ जलवायु और आपदा प्रभावों, महामारी और आर्थिक आघातों का बेहतर जवाब दिया जा सके और अनुकूलन किया जा सके।”

जैसे-जैसे अमेरिका और उसके सहयोगी व साझेदार पैसिफ़िक क्षेत्र में निवेश बढ़ा रहे हैं, बीजिंग ने अपनी वित्तीय सहायता कम कर दी है। PICs को चीन की द्विपक्षीय सहायता और विकास वित्त-पोषण 2016 में 3340 लाख ($334 मिलियन) अमेरिकी डॉलर के उच्च स्तर से गिरकर 2020 में 1880 लाख ($188 मिलियन) अमेरिकी डॉलर हो गया — जो कि 2008 में उसके योगदान से कम है, जैसा कि द फ़िजी टाइम्स ने मार्च 2023 में रिपोर्ट किया था। इस बीच, फ़िजी के केंद्रीय बैंक के अनुसार, 2020 तक फ़िजी के विदेशी ऋण का लगभग एक-चौथाई, लगभग 1900 लाख ($190 मिलियन) अमेरिकी डॉलर, सरकार द्वारा संचालित एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट बैंक ऑफ़ चाइना का बकाया था।

क्षेत्र के प्रति बीजिंग की प्रतिबद्धता के बारे में चिंताएँ वित्त से परे हैं और 2023 की शुरुआत में पैसिफ़िक क्षेत्र में एक विशेष प्रतिनिधि की नियुक्ति में देरी से यह कम नहीं हो सकेगा। पिछले वर्ष, 10 PICs ने आर्थिक और सुरक्षा संबंधों को गहरा करने के एक व्यापक चीनी प्रस्ताव को ख़ारिज कर दिया था। द डिप्लोमैट पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार, तत्कालीन माइक्रोनेशियाई राष्ट्रपति डेविड पैनुएलो (David Panuelo) ने चेतावनी दी थी कि यह योजना इस क्षेत्र को “बीजिंग के कक्ष के बेहद क़रीब” ले जाएगी, और बाद में उन्होंने सांसदों से देश की राजनयिक निष्ठा को चीन से ताइवान में स्थानांतरित करने का आग्रह किया। पैनुएलो ने आरोप लगाया कि यदि PRC ताइवान पर आक्रमण करता है, जिसे वह अपना क्षेत्र मानता है, तो माइक्रोनेशिया का समर्थन या कम से कम उसकी तटस्थता सुनिश्चित करने के लिए बीजिंग रिश्वतखोरी और जासूसी जैसी ग्रे-ज़ोन रणनीति का उपयोग कर रहा है।

“चीन का राजनीतिक युद्ध कई क्षेत्रों में सफल होने का एक कारण यह है कि हमें इसमें शामिल होने के लिए रिश्वत दी जाती है, चुप रहने के लिए रिश्वत दी जाती है,” पैनुएलो ने मार्च 2023 के एक पत्र में लिखा। “स्पष्ट रूप से कहूँ तो: आधिकारिक हैसियत से काम कर रहे चीनी अधिकारियों से मेरी निजी सुरक्षा को सीधा ख़तरा है।”

बीजिंग ने आरोपों को ख़ारिज कर दिया।

इस क्षेत्र में सोलोमन द्वीप संधि जैसे PRC के सीमित फ़ायदों के बावजूद, “पूरी तस्वीर से पता चलता है कि पैसिफिक को चीनी झील बनाने की बीजिंग की कोशिश थम गई है और उसे निकट भविष्य में मज़बूत प्रतिरोधी धाराओं का सामना करना पड़ेगा,” हवाई स्थित स्वतंत्र अनुसंधान संस्थान, द ईस्ट-वेस्ट सेंटर के सीनियर फ़ेलो डेनी रॉय (Denny Roy) ने द एशिया टाइम्स वेबसाइट के लिए मार्च 2023 के अपने लेख में लिखा था। “पैसिफ़िक क्षेत्र में बीजिंग का अधिकांश विरोध चीनी सरकार के अपने कार्यों से प्रेरित है – जो अतिरेक की एक पारंपरिक विशेषता है।”

सितंबर 2022 में उत्तरी ऑस्ट्रेलिया के काकाडू अभ्यास के दौरान बोर्डिंग ऑपरेशन संचालित करता हुआ रॉयल ऑस्ट्रेलियाई नौसेना का गश्ती जहाज़ HMAS ब्रूम, बाएँ, और फ़िजी गणराज्य नौसेना का गश्ती पोत RFNS सवेनाका। ऑस्ट्रेलियाई रक्षा विभाग

प्रतिक्रिया के लिए तैयार

जब पैनुएलो चीनी ज़ोर-ज़बरदस्ती को उजागर कर रहे थे, अमेरिकी तटरक्षक कटर ऑलिवर हेनरी ने अवैध मछली पकड़ने का मुक़ाबला करने और दूरदराज के प्रवाल द्वीपों पर समुदायों के साथ साझेदारी को मज़बूत करने के लिए माइक्रोनेशिया में एक सप्ताह की तैनाती बस पूरी ही की थी। ऑपरेशन रेमाटौ के हिस्से के रूप में, कटर के दल ने गुआम में निवासियों और व्यवसायों द्वारा दान की गई 2,000 किलोग्राम से अधिक आपूर्ति वितरित की, जिसमें भोजन, कपड़े, शैक्षिक सामग्री, खिलौने, मछली पकड़ने के गियर, समुद्री फ़ाइबरग्लास मरम्मत किट और पानी के पंप शामिल थे। यह यात्रा अमेरिकी तटरक्षक और स्थानीय सार्वजनिक सुरक्षा व आपदा प्रबंधन अधिकारियों द्वारा खोज और बचाव अभ्यास के साथ मेल खाती है। “हमारे FSM [फ़ोडरेटेड स्टेट्स ऑफ़ माइक्रोनेशिया] भागीदारों की क्षमता का निर्माण जारी रखना, विशेष रूप से खोज और बचाव में, उच्च प्राथमिकता बनी हुई है,” यू.एस. कोस्ट गार्ड फ़ोर्सेज़ माइक्रोनेशिया/सेक्टर गुआम के कमांडर कैप्टन निक सिमन्स (Nick Simmons) ने एक समाचार विज्ञप्ति में कहा।

इस क्षेत्र के अन्य जगहों पर, मार्च 2023 में ऑपरेशन माही ताही के लिए सीलिफ़्ट पोत HMNZS कैंटरबरी पर सवार होकर लगभग 300 न्यूज़ीलैंड रक्षा बल (NZDF) के जवानों को फ़िजी में तैनात किया गया था, जिसमें मानवीय सहायता और आपदा राहत (HADR) अभ्यास, उभयचर लैंडिंग और स्कूलों को किताबें व अन्य सहायक सामग्री पहुँचाना शामिल था। फ़िजी नाविकों ने HMNZS कैंटरबरी में लैंडिंग क्राफ़्ट और हेलीकॉप्टर संचालन में भी प्रशिक्षण प्राप्त किया। “पैसिफ़िक क्षेत्र में आपदाओं पर प्रतिक्रिया करना NZDF की महत्वपूर्ण भूमिका है और हमें इस महत्वपूर्ण क्षमता को प्रदान करने के लिए जितनी बार संभव हो सके प्रशिक्षित करने की आवश्यकता है,” अभ्यास का नेतृत्व करने वाले संयुक्त कार्य समूह के कमांडर कर्नल मेल चिल्ड्स (Mel Childs) ने एक समाचार विज्ञप्ति में कहा। “मैं भाग्यशाली हूँ कि मुझे अपने पूरे कैरियर में फ़िजी गणराज्य के सैन्य बलों के साथ प्रशिक्षण और काम करने का मौक़ा मिला है और हमारे RFMF दोस्तों के साथ अच्छे संबंध हैं।”

सहयोगियों और साझेदारों के बीच सुरक्षा समझौते दर्शाते हैं कि ऐसे प्रयास कैसे फले-फूले हैं। मई 2023 के अंत में, पापुआ न्यू गिनी (PNG) और अमेरिका ने एक रक्षा सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किए जो PNG रक्षा बल के प्रशिक्षण और आधारभूत संरचना को आगे बढ़ाएगा। यह उस समझौते का पालन करता है जो PNG कर्मियों को तस्करी, अवैध मछली पकड़ने और अन्य अवैध गतिविधियों के लिए गश्त करने वाले अमेरिकी तटरक्षक और नौसेना के जहाज़ों पर सवार होने की अनुमति देता है। 

PNG ऑस्ट्रेलिया के साथ एक सुरक्षा संधि पर भी बातचीत कर रहा है जो “हमारे यह स्वीकार करते हुए साझा सुरक्षा हितों की विकसित प्रकृति को प्रतिबिंबित करेगी कि जलवायु परिवर्तन, साइबर सुरक्षा और राज्य शिल्प के आर्थिक तत्व जैसी ग़ैर-पारंपरिक सुरक्षा चुनौतियाँ हमारे सामरिक परिवेश को प्रभावित करते हैं,” राष्ट्रों ने जनवरी 2023 के एक बयान में कहा। एक महीने पहले, कैनबरा ने वानुअतु के साथ एक सुरक्षा साझेदारी पर हस्ताक्षर किए थे, जिसमें HADR और पुलिसिंग से लेकर जैव सुरक्षा और समुद्री सुरक्षा तक के क्षेत्र शामिल थे। “यह समझौता हमारे क्षेत्र में शांति और सुरक्षा के लिए पहले परिवार वाले दृष्टिकोण की व्यावहारिक अभिव्यक्ति है,” ऑस्ट्रेलियाई रक्षा मंत्री रिचर्ड मार्ल्स (Richard Marles) ने एक बयान में कहा। “यह साझा सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए पैसिफ़िक परिवार के सदस्यों के रूप में मिलकर काम करने की ऑस्ट्रेलिया और वानुअतु की जारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है।”

पापुआ न्यू गिनी रक्षा बल (PNGDF) के कमांडर मेजर जनरल मार्क गोइना (Mark Goina), बाएँ, और ऑस्ट्रेलियाई रक्षा बल के प्रमुख जनरल एंगस कैंपबेल (Angus Campbell) ने दो नए PAC-750XL यूटिलिटी एयरक्राफ़्ट की डिलीवरी के लिए मार्च 2023 में एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। ऑस्ट्रेलियाई रक्षा विभाग

मज़बूत एकजुटता

उन चुनौतियों में दो चक्रवातों द्वारा वानुअतु की तबाही से वापसी की लंबी राह शामिल है — एक ऐसी आपदा, जिसने देश के 80 द्वीपों में 80% से अधिक आबादी को प्रभावित किया, जिसमें आर्थिक गिरावट 9560 करोड़ ($956 मिलियन) अमेरिकी डॉलर के सकल घरेलू उत्पाद के आधे से ज़्यादा थी। सहयोगी और साझेदार इस अवधि तक वहीं रहने की योजना बना रहे हैं। तूफ़ान के कुछ ही हफ़्तों बाद, अमेरिकी विदेश विभाग ने घोषणा की कि वह “जलवायु संकट से निपटने के प्रयासों सहित संभावित द्विपक्षीय सहयोग और विकास सहायता के क्षेत्रों को सुविधाजनक बनाने” के लिए पोर्ट विला में एक दूतावास खोलेगा। अप्रैल 2023 की शुरुआत में, संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम ने 30 मीट्रिक टन खाद्य राशन और चिकित्सा आपूर्ति की डिलीवरी का नेतृत्व किया था, जिसमें फ़िजी से दान तथा आपातकालीन संचार प्रणालियों की स्थापना शामिल थी।

बहाली के प्रयासों में तेजी आने के बावजूद, भागीदार क्षेत्र में दीर्घकालिक निवेश का वादा कर रहे थे। द फ़िजी टाइम्स ने मार्च 2023 में सूचित किया कि यूनाइटेड किंगडम ने जलवायु परिवर्तन के खिलाफ़ प्रतिरोधक्षम बनाने के लिए कमज़ोर समुदायों को अनुदान देने के लिए सुवा में अपनी पैसिफ़िक पार्टनरशिप फ़ेसिलिटी शुरू की। समोआ में, एशियाई विकास बैंक ने प्राकृतिक आपदाओं और स्वास्थ्य आपात स्थितियों के लिए 1 करोड़ ($10 मिलियन) अमेरिकी डॉलर देने का वादा किया, जो पैसिफ़िक आपदा प्रतिरोधक्षम कार्यक्रम का हिस्सा है जिसकी शुरुआत 2017 में हुई और जो 2026 तक चलने वाला है। जापान ने संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) के माध्यम से चार PICs — PNG, समोआ, तिमोर-लेस्ते और वानुअतु — को सौर और जल विद्युत सहित नवीकरणीय ऊर्जा परिवर्तन में मदद के लिए दो वर्षों में 370 लाख ($37 मिलियन) अमेरिकी डॉलर देने का वादा किया। “ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में उनकी नगण्य भूमिका के बावजूद, कई पैसिफ़िक देशों ने बढ़ते जलवायु संकट से निपटने के लिए ब्लूप्रिंट विकसित किया है,” UNDP के एशिया और पैसिफ़िक ब्यूरो के निदेशक कन्नी विज्ञराजा (Kanni Wignaraja) ने एक बयान में कहा।

फ़िजी के राबुका ने कहा कि क्षेत्र की चुनौतियों के प्रति ऐसी एकीकृत और व्यापक प्रतिक्रिया क़ायम रहेगी। उन्होंने कहा, “जलवायु परिवर्तन से उत्पन्न वास्तविक ख़तरों के साथ-साथ हमारे क्षेत्र में बढ़ते भू-राजनीतिक हितों की पृष्ठभूमि में, हमारे पैसिफ़िक परिवार में एकजुटता हमेशा काफ़ी महत्वपूर्ण रही है।”  

संबंधित आलेख

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button