दक्षिणपूर्व एशिया / एसईएफ़ीचर

एकीकृत समाधान

अभूतपूर्व तालिस्मान सेबर अभ्यास के लिए सहयोगी, साझेदार ऑस्ट्रेलिया में एकत्रित

फ़ोरम स्टाफ़

को कोरियोग्राफ़र के अभ्यस्त क़दमों के समान, ऑस्ट्रेलियाई सेना के कर्नल बेन मैक्लेनन (Ben McLennan) ने इस बात का ध्यान रखते हुए कि दुश्मन उनकी एड़ी से कुचल न जाए, उत्तर-पूर्वी क्वींसलैंड को पार किया। टैंकों, युद्धपोतों, विमानों और सैनिकों के लाल और नीले प्लास्टिक मॉडलों से युक्त 8 X 16 मीटर के मानचित्र पर चलते हुए, मैक्लेनन ने ऑस्ट्रेलियाई रक्षा बल (ADF) के प्रमुख, वरिष्ठ सूचीबद्ध सलाहकार, वारंट अधिकारी केन रॉबर्टसन (Ken Robertson) को तालिस्मान सेबर के प्रकट युद्धाभ्यास की रूपरेखा दी। जुलाई 2023 के अंत में, जब जलाशय अभ्यास “ओलंपिक्स ऑफ़ वॉर गेम्स” के मध्य बिंदु पर था, जिसने एक दर्जन से अधिक देशों से 34,500 सैनिकों को युद्ध क्षेत्र में लाइव और सिम्युलेटेड अभ्यास के लिए ऑस्ट्रेलिया की ओर आकर्षित किया।

“किसी भी सैन्य गतिविधि की तरह, हम इसे एक रिहर्सल मान रहे हैं,” मैक्लेनन ने रॉबर्टसन से कहा, जो नक़ली संघर्ष क्षेत्र की परिधि के साथ लगी कुर्सियों में से एक पर आगे झुके हुए थे। “हम गठबंधन के रूप में काम करने और लड़ने के लिए हमें क्या करना होगा इसके प्रमुख पहलुओं का पूर्वाभ्यास कर रहे हैं। यह सामूहिक प्रतिबद्धता, सामूहिक संकल्प, साथ प्रशिक्षित होने, साथ में बेहतर होने और यदि आवश्यक हो, तो हमारे क्षेत्र की शांति और स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए साथ मिलकर कार्य करने के सामूहिक सहयोग का प्रदर्शन है।”

अनुपात और जटिलता में बेजोड़, द्विवार्षिक ऑस्ट्रेलिया-संयुक्त राज्य अमेरिका अभ्यास की 10वीं पुनरावृत्ति ने बड़े पैमाने पर इंडो-पैसिफ़िक में भू-राजनीतिक वास्तविकताओं को प्रतिबिंबित किया, जहाँ बीजिंग के तेज़ी से सैन्य निर्माण, प्योंगयांग के अस्थिर करने वाले मिसाइल प्रक्षेपण और यूक्रेन पर मॉस्को के अकारण हमले ने तनाव बढ़ा दिया है, जबकि समान विचारधारा वाले देशों के बीच साझेदारी मज़बूत करने पर फ़ोकस पुनर्जीवित हुआ है। यह पहली बार के तालिस्मान सेबर के प्रतिभागियों — फ़िजी, फ़्रांस, जर्मनी, इंडोनेशिया, पापुआ न्यू गिनी और टोंगा — के रोस्टर के साथ-साथ भारत, फ़िलीपींस, सिंगापुर और थाईलैंड की प्रारंभिक पर्यवेक्षक स्थिति से स्पष्ट था।

टोंगा जैसे विकासशील देश के लिए, दो सप्ताह का अभ्यास “क्षेत्रीय सुरक्षा व्यवस्था का हिस्सा” बनने का अमूल्य अवसर था, ऑस्ट्रेलिया में प्रशांत द्वीपीय देश की 40 सदस्यीय टुकड़ी के कमांडर लेफ़्टिनेंट कर्नल ताऊ अहोलेली (Tau Aholelei) ने कहा, जिसने अपने सशस्त्र बलों के लगभग 7% का प्रतिनिधित्व किया। “हम सभी के अपने विभिन्न सुरक्षा हित हैं। साथ ही, हमारे साझा सुरक्षा हित भी हैं,” अहोलेली ने क्वींसलैंड में ADF के टाउन्सविले फ़ील्ड ट्रेनिंग एरिया में फ़ोरम को बताया, जो टोंगा से तीन गुना बड़ी 2,300 वर्ग किलोमीटर का परिसर है। “सबसे छोटे प्रतिभागियों में से एक के रूप में, हम अपने सुरक्षा साझेदारों को यह भी दिखाना चाहते हैं कि हम योगदान कर सकते हैं, और न केवल योगदान कर सकते हैं बल्कि योगदान करते हैं ताकि हम सैन्य कार्यवाहियों में मूल्य जोड़ सकें, हम साझेदारी में मूल्य जोड़ सकें, और जहाँ तक सुरक्षा अभियानों की बात है, हम विश्वसनीय और भरोसेमंद भागीदार हैं।”

ADF के कॉम्बैट ट्रेनिंग सेंटर के कमांडर और 2005 में पहले अभ्यास के अनुभवी मैक्लेनन (McLennan) ने कहा कि टोंगन और अन्य बलों को तालिस्मान सेबर में शामिल करना “उल्लेखनीय रूप से सुगम” था। “तथ्य यह है कि 20 साल से भी कम समय में हम दो देशों से 13 देशों तक पहुँच गए हैं, और अगली बार संभवतः 17 देशों तक पहुँच जाएँगे, यह वाक़ई अविश्वसनीय है,” उन्होंने फ़ोरम को बताया। “एकीकरण लोगों, प्रक्रिया और मंच तक विस्तृत है। मुझे लगता है कि समान विचारधारा वाले देशों से आने वाले हमारे लोग काफ़ी अच्छी तरह से एकीकृत होते हैं। इसमें एक ईमानदारी है, और सहयोग करने, साथ काम करने, टीम के रूप में जुड़ने की वास्तविक इच्छा है… और इसलिए इस प्रकार की गतिविधियाँ सामान्य प्रक्रियाओं को विकसित करने में मदद करने के लिए शानदार हैं जो कई देशों के लोगों के लिए काम करती हैं।”

तालिस्मान सेबर 2023 के दौरान शोलवाटर बे प्रशिक्षण क्षेत्र में सामरिक प्रविष्टि का संचालन करते इंडोनेशियाई सशस्त्र बल के पैराट्रूप्स। ऑस्ट्रेलियाई रक्षा विभाग

कौशल को धार देना

टाउन्सविले फ़ील्ड में मैक्लेनन के नक्शे से कुछ दर्जन क़दमों की दूरी पर टेंट और ट्रेलरों में, सैन्य और नागरिक विश्लेषक स्क्रीन के नीचे कंप्यूटर मॉनिटर के किनारे बैठे वीडियो फ़ीड और सेना की गतिविधियों के डिजीटल प्रस्तुतीकरण में व्यस्त थे। मिशन: व्यक्तिगत स्तर तक, वास्तविक समय में सैन्य कार्यवाही के निष्पादन का मूल्यांकन करें। क्या गठबंधन सेना की नदी पार करने की हरकत से दुश्मन को प्रत्याशित जवाबी कार्रवाई का आभास हुआ? एकत्र किया गया डेटा बाद की चालों को कैसे सूचित कर सकता है जो वास्तविक लक्ष्य को छिपाते हुए प्रतिद्वंद्वी को डगमगा देता है?

अनुकूलित मूल्यांकन में GPS ट्रैकर, मोबाइल डिवाइस और एम्बेडेड कोच शामिल थे। पेशेवर खेलों के बारे में सोचें, मैक्लेनन ने कहा। “लोगों को प्रतिक्रिया देने के लिए गतिविधि के अंत तक प्रतीक्षा करने के बजाय, हम खेल के दौरान प्रतिक्रिया प्रदान करते हैं; इसलिए, यह अगले खेल के लिए है, अगले सप्ताह के अगले खेल के लिए नहीं,” उन्होंने द स्टार्स एंड स्ट्राइप्स अख़बार को बताया। “यह सब हमारे कोचिंग नेटवर्क के माध्यम से फ़ीडबैक के ज़रिए सीखने और आगे बढ़ने से जुड़ी बात है, जो यह फ़्यूशन सेल फ़ीडबैक प्रदान करता है।”

उच्च तकनीक और मानव विश्लेषण का मिश्रण अन्यत्र भी हुआ, जब अमेरिकी सेना के सदस्यों ने स्वास्थ्य तत्परता और निष्पादन प्रणाली का परीक्षण किया, जिसमें पल्स ऑक्सीजन स्तर, हृदय गति और अन्य शारीरिक मैट्रिक्स की निगरानी के लिए हृदय पर पहना जाने वाला सेलफ़ोन से जुड़ा उपकरण शामिल है। एक पूर्वानुमान लगाने वाले एल्गोरिथ्म का उपयोग करते हुए प्रौद्योगिकी, डॉक्टरों और दस्ते के लीडरों को चोट का कारण बनने वाले, निर्णय लेने में बाधक और निष्पादन को कम करने वाले, गर्मी के तनाव के संकेतों के प्रति सचेत कर सकती है।

सैन्य स्वास्थ्य पेशेवरों ने अपनी स्वयं की परिचालन तत्परता को बढ़ाते हुए, ऑस्ट्रेलियाई महाद्वीप में तालिस्मान सेबर के प्रतिभागियों की देखभाल के लिए बहुराष्ट्रीय टीमों में भी काम किया। “हमारा लक्ष्य इंटरऑपरेबिलिटी है, ताकि मिलकर तैनात करने में सक्षम हो सके,” तीसरी स्वास्थ्य बटालियन के पल्मोनोलॉजिस्ट, ऑस्ट्रेलियाई सेना के कैप्टन जोनाथन पोलासेक (Jonathan Polasek) ने क्वींसलैंड की राजधानी, ब्रिस्बेन से लगभग 520 किलोमीटर उत्तर में स्थित रॉकहैम्प्टन आर्मी रिज़र्व डिपो, या “कैम्प रॉकी” में फ़ोरम को बताया। “ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका दुनिया की कई समस्याओं से निपटने में दीर्घकालिक साझेदार रहे हैं, और हमने पाया है कि हम सभी चिकित्सा और नर्सिंग के एकसमान दृष्टिकोण और अभ्यास को साझा करते हैं, तथा हम बहुत जल्दी इस बात को समझ सकते हैं कि कैसे हममें से प्रत्येक व्यक्ति उस प्रकार की क्षमता प्रदान करने के लिए काम करते हैं और बहुत जल्दी एक-दूसरे के साथ फ़िट हो जाते हैं।”

“अनुकूलन और सहयोग तथा संवाद करने में सक्षम होना काफ़ी अच्छा रहा,” कैप्टन एंड्रिया बॉयर (Anndrea Boyer) ने कहा, जो यूटा नेशनल गार्ड की 144वीं एरिया मेडिकल सपोर्ट कंपनी की चिकित्सा सहायक हैं, जिसके अभ्यास में लगभग 50 सदस्य मौजूद थे। “हम साथ मिलकर काम करने और विभिन्न आघात परिदृश्यों से गुज़रने, विभिन्न उपकरणों और चिकित्सा आपूर्ति का उपयोग करने में सक्षम हैं, और वाक़ई एक निर्बाध मशीन बन गए हैं… हमने एक-दूसरे के साथ बहुत कुछ सीखा है।”

इस तरह का सहयोग और नवोन्मेष तालिस्मान सेबर में व्याप्त है, जिसमें लगभग 30 जहाज़ और पनडुब्बियाँ तथा 500 से अधिक मिशनों का संचालन करने वाले 50 से ज़्यादा विमान शामिल थे। उपलब्धियों में:

  • ADF और अमेरिकी सेना ने मल्टीडोमेन स्ट्राइक क्षमता के हिस्से के रूप में लक्ष्य पर हमला करने के लिए आर्मी टैक्टिकल मिसाइल सिस्टम को नियोजित किया, जिसकी रेंज 300 किलोमीटर है।
  • जापान ग्राउंड सेल्फ़-डिफ़ेंस फ़ोर्स ने ऑस्ट्रेलिया में अपनी टाइप 12 सतह से जहाज़ और टाइप 3 Chu-SAM सतह से हवा में वार करने वाली मिसाइलों का पहला लाइव-फ़ायर किया।
  • कोरिया गणराज्य (ROK) के सशस्त्र बलों ने पहली बार ऑस्ट्रेलिया में K239 चुनमू स्वचालित, मल्टीपल-लॉन्च रॉकेट सिस्टम और K9 थंडर स्वचालित हॉवित्ज़र तैनात किए।
  • अमेरिकी सेना और नौसेना ने दूरदराज के स्थानों में सैन्य बलों की निरंतरता को प्रदर्शित करने के लिए उत्तरी क्वींसलैंड में 3 किलोमीटर, जहाज़-से-किनारे तक के पेट्रोलियम पाइपलाइन की स्थापना की।
  • ADF और अमेरिकी सेना ने बोवेन, क्वींसलैंड में 540 मीटर लंबा तैरता हुआ घाट बनाया।
  • रॉयल ऑस्ट्रेलियाई वायु सेना के KC-30A मल्टीरोल विमान और अमेरिकी वायु सेना के KC-46A पेगासस टैंकरों ने पहली बार समन्वित हवा से हवा में ईंधन भरने की कार्यवाही संचालित की।

कई सैन्य बलों के बीच अभ्यास लक्ष्य इंटरऑपरेबिलिटी से परे व्याप्त थे। “जहाँ हम वाक़ई प्रगति करने की कोशिश कर रहे हैं वह विनिमेयता है, जो कि एक तरह से अगला क़दम है, [ताकि] हममें से कोई भी, हम चाहे जो भी झंडा फहराते हों, दूसरे साथी के लिए एक मिशन पर काम कर सकें,” अमेरिकी नौसेना के रियर एडमिरल क्रिस स्टोन (Chris Stone) ने, जो एक्सपेडिशनरी स्ट्राइक ग्रुप 7, टास्क फ़ोर्स 76 और एम्फ़ीबियस फ़ोर्स 7वें फ़्लीट के कमांडर हैं, यू.एस. नेवल इंस्टीट्यूट न्यूज़ को बताया। “हम वास्तव में उस दिशा में आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं जहाँ हम एक-दूसरे के साथ जुड़ सकें और खेल सकें, जहाँ हमारे पास समान रणनीति, तकनीक, प्रक्रियाएँ, सिद्धांत, समझ, प्रशिक्षण, दक्षता हो।”

तालिस्मान सेबर के दौरान क्वींसलैंड के शोलवाटर बे प्रशिक्षण क्षेत्र में उभयचर लैंडिंग का संचालन करते कोरिया गणराज्य के नौसैनिक।ऑस्ट्रेलियाई रक्षा विभाग

गहराते रिश्ते

मवेशियों के देश के बीच बजरी के 25 किलोमीटर लंबे ट्रैक के टर्मिनस पर — जो शॉक अब्ज़ॉर्बर और लिडलेस ड्रिंक्स का अभिशाप बना घुमावदार वॉशबोर्ड है — ऑस्ट्रेलियाई सेना के लेफ़्टिनेंट जनरल ग्रेग बिल्टन (Greg Bilton) ने टीलों के ऊपर से नज़ारा देखा जब अमेरिकी नौसेना के होवरक्राफ़्ट ने लैंगहम बीच पर जर्मन, जापानी और अमेरिकी सैन्य बलों को उतारा। स्टैनेज खाड़ी के सामने सुनहरी रेत का विस्तार है, जो टाउन्सविले से लगभग 725 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में एक प्रायद्वीप के ऊपर की ओर, कैसोवरी के झरने की तरह उत्तर में कोरल सागर में समा जाता है। तूफ़ानी बादलों से घिरे क्षितिज पर, एक युद्धपोत पूर्व की ओर बढ़ते हुए छाया की भाँति मुश्किल से दिखाई दे रहा था। जैसे ही टिल्ट्रोटर्स की छाया तटीय-रेखा पर पड़ी, अमेरिकी मरीन कोर MV-22B ऑस्प्रे की दहाड़ तेज़ हो गई। दक्षिण-पूर्वी दिशा में शोलवाटर बे में, इंडोनेशियाई और अमेरिकी पैराट्रूप्स ने C-130 से सामरिक प्रवेश संचालित किया, और ROK मरीन ने एक और समुद्र तट पा लिया।

उभयचर आक्रमण अभ्यास ने तालिस्मान सेबर की बहुराष्ट्रीय प्रकृति को उजागर किया। “आज जापानियों के पास इसका सबूत है,” ADF के संयुक्त अभियान प्रमुख बिल्टन ने संवाददाताओं से कहा। “इस क्षेत्र में [भी] गहरी यूरोपीय दिलचस्पी है। वे इन अभ्यासों को अपनी सेनाओं के लिए इस माहौल में काम करने के अवसर के रूप में देखते हैं।” जर्मन नौसेना समुद्री बटालियन के कैप्टन जोनास लिंके (Jonas Linke) 200 से अधिक जर्मन हवाई और पैदल सेना के सैनिकों के साथ इंडो-पैसिफ़िक में अपनी पहली तैनाती पर थे, जिन्होंने 15,000 किलोमीटर तक की यात्रा की थी। उन्होंने स्टैनेज बे स्टेजिंग क्षेत्र में कहा कि एक साझा मिशन और आपसी विश्वास से सांस्कृतिक मतभेद मिट गए। “अमेरिकी नौसैनिकों और जापानी सेनाओं के साथ भाग लेना प्रशिक्षण का बेहतरीन अवसर रहा है। हम सभी अलग भाषा बोलते हैं, लेकिन हम सबकी सैन्य भाषा एक ही है और समान लक्ष्यों व उद्देश्यों को प्राप्त करते हुए सब काम कारगर रूप से पूरा करते हैं।”

इंडोनेशियाई सेना के लेफ़्टिनेंट कर्नल अरीफ़ विद्यांतो (Arief Widyanto) ने दक्षिण पूर्व एशियाई राष्ट्र द्वारा तालिस्मान सेबर में 100 से अधिक कर्मियों की प्रारंभिक तैनाती के हिस्से के रूप में उभयचर हमले के दौरान 30 से अधिक पैराट्रूपर्स के साथ छापे का नेतृत्व किया। “हमने अभ्यास की शुरुआत से ही बहुत कुछ सीखा है, और अभ्यास की योजना से भी,” 501वीं एयरबोर्न बटालियन के कमांडर अरीफ़ ने फ़ोरम को बताया। “हमारे देश के बाहर इतने बड़े अभ्यास में शामिल होने में सक्षम होना इंडोनेशियाई सैनिकों के लिए शानदार अनुभव है … यह हमारे लिए बेहद फ़ायदेमंद है, न केवल उन कर्मचारियों के लिए जो अन्य कर्मचारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करते हैं ताकि वे अच्छे संबंध बना सकें, बल्कि ज़मीन पर मौजूद सैनिकों के लिए भी, सहयोगी बलों की क्षमताओं को जानने और उनके बारे में और भी बहुत कुछ सीखने में सक्षम हो सकें।”

सबक़ जंगल में और बैरक में सीखे और साझा किए गए। “हम इस बारे में अवधारणाओं पर चर्चा करते हैं कि भविष्य कैसा दिखता है, विशेष रूप से प्रत्येक संबंधित सेना को संगठित करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों को देखते हुए, ताकि उसमें हम एक-दूसरे की मदद कर सकें,” टाउन्सविले फ़ील्ड मेस टेंट और फ़ील्ड किचन के पास एक फ़ोल्डिंग टेबल पर अरीफ़ के साथ बैठे अहोलेली ने कहा, जहाँ मध्य शीतकाल की गोधूलि वेला में ग्रिल्ड लैम्ब और स्टीक की सुगंध आ रही थी। “यह साझेदारी और उन रिश्तों को बढ़ावा देने से जुड़ी बात है। सम्मेलन कक्ष में औपचारिक रूप से बैठना और सही बातें कहना एक बात है, लेकिन परस्पर आमने-सामने एक स्वाभाविक संबंध होता है और वहीं से विश्वास और सम्मान बनता है।”

पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के डर्बी में तालिस्मान सेबर 2023 के दौरान छिपने के लिए दीमक के टीले का उपयोग करता हुआ एक ऑस्ट्रेलियाई सेना का सैनिक।
ऑस्ट्रेलियाई रक्षा विभाग

‘एकजुट संकल्प’

जब अमेरिकी सेना के कर्नल ब्रायन मार्टिन (Bryan Martin) ने 4×4 की अपनी कमान द्वारा विवादास्पद ट्रांसमिशन को पछाड़ते हुए टाउन्सविले फ़ील्ड में एक जलमार्ग से होकर पैंतरेबाज़ी की, तो पानी खिड़की के स्तर तक उछला, जिससे सफ़ेद टोयोटा लैंड क्रूज़र पर धूल का गेरुआ रंग काला हो गया। हवाई स्थित ज्वाइंट पैसिफ़िक मल्टीनेशनल रेडीनेस सेंटर (JPMRC) के कमांडर और तालिस्मान सेबर के उप अभ्यास निदेशक मार्टिन (Martin) विशाल युद्धक्षेत्र का सर्वेक्षण कर रहे थे, और ऑपरेशन का विश्लेषण करते हुए मानचित्र और हैंडहेल्ड रेडियो के ज़रिए अपनी स्थिति की पुष्टि कर रहे थे। दुर्गम इलाक़े में पैदल यात्रा करने के लिए लैंड क्रूज़र को छोड़कर, उन्होंने घनी झाड़ियों और पेड़ों के बीच छिपे हुए मुट्ठी भर वाहनों के बीच की दूरी पर ग़ौर किया। “आप 155 मि.मी. राउंड के विस्फोट के दायरे में नहीं रहना चाहते,” उन्होंने फ़ोरम से कहा। “यह बहुत अच्छा छितराव है; यहाँ पर अभी भी थोड़ी तंगी है।”

पहले एक और तालिस्मान सेबर में, JPMRC और ADF के कॉम्बैट ट्रेनिंग सेंटर ने 10-दिवसीय संयुक्त जबरन प्रवेश सैनिक कार्रवाई के लिए क्षमताओं का विलय किया, जिसमें बड़े पैमाने पर गठबंधन बलों ने हमलावर दुश्मन से गणराज्य द्वीप की रक्षा की। मार्टिन ने कहा, अनुकूली, प्रतियोगिता-की-इच्छा परिदृश्य ने योजनाकारों को “तनाव के कोहरे और घर्षण को प्रेरित करने” की अनुमति दी। “यह समान विचारधारा वाले देशों के एक साथ आने, सामान्य सैन्य लक्ष्य की दिशा में काम करने और शक्ति के प्रक्षेपण तथा प्रशांत क्षेत्र में निर्णायक भू-सत्ता का संचालन करने के पहलुओं से संभावित प्रभुता का प्रदर्शन है।”

योजना बनाने से लेकर कार्यान्वयन तक, यह अभ्यास ऑस्ट्रेलिया-अमेरिका की सैन्य साझेदारी के विस्तार का शक्तिशाली प्रतीक था, जो प्रथम विश्व युद्ध के दौरान पश्चिमी मोर्चे की खाइयों से जुड़ी एक सदी से भी अधिक समय पहले की है और जिसे 1951 में हस्ताक्षरित पारस्परिक रक्षा संधि के साथ मज़बूत किया गया था। अभ्यास शुरू होने से कुछ महीने पहले, कैनबरा ने अपनी रक्षा रणनीतिक समीक्षा का अनावरण किया, जो ऑस्ट्रेलिया के सामने आने वाली सुरक्षा चुनौतियों का एक व्यापक मूल्यांकन है, जिसमें 85,000 सदस्यीय ADF को “अपने तटों से दूर ख़तरे में पड़े प्रतिद्वंद्वी को रोकने” में सक्षम होने का आह्वान किया गया है। इसकी सिफ़ारिशों में: लंबी दूरी की मारक क्षमताएँ विकसित करना, जैसे हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम (HIMARS); लड़ाकू विमानों पर लंबी दूरी की एंटीशिप मिसाइलों को एकीकृत करना; अमेरिका के साथ सैन्य योजना बढ़ाना; और ऑस्ट्रेलिया में अमेरिकी सेना की तैनाती बढ़ाना शामिल है।

जब तालिस्मान सेबर ने अपने दूसरे सप्ताह में प्रवेश किया, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के रक्षा तथा विदेश मंत्रियों ने ब्रिस्बेन में मुलाक़ात की, जिसमें सहयोग को गहरा करने पर सहमति व्यक्त की गई, जिसमें अमेरिकी नौसेना की पनडुब्बियों की लंबी और अधिक नियमित यात्राएँ, और ऑस्ट्रेलिया को रोटेशन में अमेरिकी सेना के जलयान व अमेरिकी नौसेना के समुद्री गश्ती दल व टोही विमान के रोटेशन शामिल हैं। सहयोगी देश 2024 तक ऑस्ट्रेलिया के रक्षा आसूचना संगठन के भीतर संयुक्त आसूचना केंद्र स्थापित करने और 2025 तक ऑस्ट्रेलिया में गाइडेड मल्टीपल-लॉन्च रॉकेट सिस्टम का सह-उत्पादन करने पर भी सहमत हुए, साथ ही उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता को मजबूत करने के लिए वे भारत, इंडोनेशिया, जापान, फ़िलीपींस और दक्षिण कोरिया सहित भागीदारों के साथ सहयोग बढ़ाएँगे।

“मैं कभी ऐसे युद्ध में नहीं था जब मैं अपने दाएँ या बाएँ मुड़कर ऑस्ट्रेलियाई सैनिकों, नाविकों, वायुसैनिकों के साथ-साथ आज यहाँ प्रतिनिधित्व करने वाले कई सहयोगियों और साझेदारों को देखा हो,” अमेरिकी सेना में 41 साल सेवा करने वाले अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन ने ऑस्ट्रेलियाई रक्षा मंत्री रिचर्ड मार्लेस के साथ टाउन्सविले में लावारैक बैरक की यात्रा के दौरान अभ्यास के प्रतिभागियों को बताया। “हमारी पहचान यही है। हम इंटरऑपरेबिलिटी से जुड़े हैं। हम साथ मिलकर काम करने वाले हैं। हम स्वतंत्र और खुले इंडो-पैसिफ़िक के साझा दृष्टिकोण को बढ़ावा देते हैं।”

टैंक ट्रैक, एयरक्राफ़्ट प्रोपेलर और ज़मीन पर जूतों द्वारा टाउन्सविले फ़ील्ड में उड़ने वाली अप्रिय धूल के बमुश्किल थमने से पहले ही मैक्लेनन, मार्टिन और उनके समकक्षों द्वारा 2025 में अगले तालिस्मान सेबर की योजना शुरू हो जाएगी। यह एक निरंतर प्रयास है जिसकी तुलना ऑस्ट्रेलियाई लोग “सिडनी हार्बर ब्रिज को पेंट करने” से कर सकते हैं, लेकिन इससे बहुराष्ट्रीय साझेदारी के लिए एक और आगे बढ़ते बड़े क़दम का वादा झलकता है।

“कुल मिलाकर, मुझे लगता है कि यह उल्लेखनीय उपलब्धि रही है,” मैक्लेनन ने कहा, जहाँ उनके पैरों के पास पड़ा युद्धक्षेत्र का नक़्शा एक ऐतिहासिक मिशन के पैमाने और दायरे की अभिव्यक्ति का आभास कराता है। “और मुझे लगता है कि यह एक साथ काम करने, एक साथ प्रशिक्षित करने और संभावित रूप से एक साथ लड़ने के लिए एक साथ बेहतरी के उस सामान्य, एकीकृत संकल्प और प्रतिबद्धता का प्रमाण है… जब हर कोई एक ही दिशा में खींचते हैं, तो सफलता अपने आप आ जाती है। जैसा कि हम सभी जानते हैं, ये रिश्ते ही हैं जो हमें संकट में एक साथ रखेंगे।”

संबंधित आलेख

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button